पेट अंदर करने और पतले होने के 5 आसान उपाय और नुस्खे

Pet Ander Karne Ke Upay Aur Ghrelu Tarike in Hindi: मोटापा कई बीमारियों को जन्म देता है| जैसे के मोटापे के कारण हार्ट अटैक, ब्लड प्रेशर, थकान आदि रोग जन्म लेते है| खासकर महिलाओं में श्वेत प्रदर, मासिक घर्म में अनियमितता, बौझपन, सांस फूलना जैसे रोग होने का खतरा ज्यादा रहता है| मोटापे से गुर्दे की बीमारी, मधुमेह ग्रस्त मोटे लोगों की मृत्यु दर बढ़ती जाती है| भारी बदन के लोगों को शल्यक्रिया के दौरान ज्यादा खतरा रहता है| गठिया जैसे रोग उन्हें जल्दी होते है| शरीर का बढ़ा हुआ वजन घटना बहुत कठिन है, इसलिए वजन को बढने से रोको| पुरुष के लिए 70 किलो एव महिला के लिए 60 किलो वजन ‘लक्ष्मण रेखा’ है| मोटापा एक अभिशाप, मुसीबतों की जड़ है|आइये जाने without dieting exercise easy and fast weight loss tips in hindi for men and women.

मोटापा मौत को जल्दी बुलाता है| मोटे शरीर में मोटी बीमारियाँ, मोटी जाँच, मोटी फीस एव डॉक्टर की जरूरत रहती है| यदि मधुर मुस्कान एव मस्ती चाहिए तो मोटापे से मुक्ति पायें| इतना नहीं खायें कि रोगी बन जायें| कम खायें, लम्बी जिन्दगी जियेँ| खुराक घटाओ, घूमना बढ़ाओ, मोटापे से मुक्ति पाओ| खाना खाने का स्वभाव बदले बिना बदन का बढ़ा हुआ वजन कम करना आसान नहीं| चखो पर चरो मत| बदन का बढ़ा हुआ वजन बाई पास सर्जरी का वारन्ट है|  बदन के बढ़े हुए वजन में यदि बुनियादी बदलाव लाना है तो बाटी, बर्फी, बादाम, बड़े और बिस्कुट कम-से-कम खाओ, व्यायाम करो, घूमने जाओ|

पेट अंदर करने के उपाय : वेट लॉस टिप्स इन हिंदी

Motapa kam karne Ke Liye Tips in Hindi

  1. शाम-सुबह नियमपूर्वक, शक्ति-अनुसार खुली हवा में तेज चलकर टहलें या कोई अन्य हल्का व्यायाम किया करें या मालिश|
  2. सुबह उठते ही आधा किलो बासी जल (उष पान) पीकर तब सौच जायें| तांबे के लोटे का जल अच्छा रहता है|
  3. रात को सोते समय एक गिलास गर्म पानी में आधा कागजी नींबू निचोड़कर पिये|
  4. कभी-कभी जब पेट भारी हो तो उपवास रखे और एनिमा ले| एनिमा के पहले 30 मिनट तक पेडू पर मिट्टी की पट्टी भी रखे|
  5. सप्ताह में एक-दो दिन भाप स्नान करके पसीना निकालना चाहिये तथा सप्ताह में एक दो दिन का उपवास भी करना चाहिये| गर्दन के नीचे के हिस्से में लाल प्रकाश लेना भी चाहिये बहुत फायदा करता है| सप्ताह में दो बार एप्सम साल्ट बाथ लेना चाहिये|
  6. सुबह-शाम अधिक से अधिक 10-15 मिनट तक मेहन या कटि-स्नान लेना चाहिये|
  7. सप्ताह में एक-दो दिन सारे बदन की गीली पट्टी भी देना चाहिये तथा गर्मी के दिनों में धूप स्नान भी लेना आवश्यक है|
  8. मोटापा से पीड़ित रोगी को निम्नलिखित आसन 15 मिनट प्रतिदिन करना चाहिये-आसान पर बैठकर पैर आगे फैलाओ| फिर दोनों हाथों से दोनों पैरों के अंगूठे  पकड़ लो और सिर को झुका कर दोनों घुटनों के बिच में रखो| यदि अंगूठे न पकड़ सको तो जहां तक हाथ जा सके ले जाने का प्रयत्न करो और वहीं से फिर सीधे बैठ जाओ| ऐसा करते समय पेट को अन्दर ले जाने और घुटने सीधे रखने का ध्यान अवश्य रखो| हाथ भी जहां तक हो सके सीधे रहें| यह आसन करते समय श्वास बाहर कर पेट को जितना भीतर की ओर खींचा जाये, उतना ही अधिक लाभ होगा इस आसन को पश्चिमोन्तानासन कहते है|
  9. सुबह नाश्ते में टमाटर या फलों का जूस गरम पानी के साथ एक गिलास मट्ठा, दोपहर के भोजन में सलाद, चोकरदार रोटी और उबली तरकारियां| आलू नहीं लेना चाहिये| शाम को सुबह का ही भोजन लेना काफी होगा| इसके अतिरिक्त इच्छा हो तो दो-तीन बार फल व तरकारियों का भी जूस लिया जा सकता है| दुबला होने के लिए टमाटर, लीची और खीरे-ककड़ी लाभ करते है| लौकी और खीरे ककड़ी के जूस में नींबू का रस और थोड़ा शहद मिला देने से सर्वोत्तम शरबत बनता है| भूख अधिक लगने पर खीरा, ककड़ी, टमाटर, आदि को भी खाया जा सकता है| प्रात:काल और सोते समय एक गिलास गर्म जल पीने से आदमी का मोटापा बहुत शीघ्र छंटता है|
ज़रूर पढ़ें -   बवासीर को जड़ से खत्म करने का अचूक इलाज और 10 घरेलू उपाय

पेट अंदर करने के घरेलू नुस्खे : Weight Loss karne ke Gharelu Nuskhe

  • दिनभर में कम-से-कम 7-8 गिलास पानी का अवश्य सेवन करें|
  • पपीता, प्याज, हरी पत्तियों वाली सब्जी, नीबू को भोजन का हिस्सा बनाएं|
  • प्रात:सायं व्यायाम करें| दोपहर को सोना बंद करें|
  • चौथाई लीटर पानी को उबालें और ठंडा होने पर कागजी नींबू (आधा) निचोड़ें| इस पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर प्रात: सेवन करें| इस उपाय को रोज करने से मोटापा दूर होता है| और पेट अन्दर होने लगता है|
  • त्रिफला को गरम काढ़े में  शहद मिलाकर पीने से मोटापा कम हो जाता है| और पेट अन्दर होने लगता है|
  • प्रात: सायं शहद पुत नीबू व पानी का सेवन करें|
  • त्रिफला, त्रिकुटा, चवा, चिकन, विड़ नमक, काला नमक, काबुची तथा सेंधा नमक प्रत्येक 10-10 ग्राम लेकर पीसकर कपड़े से छान लें, फिर इसमें 4 ग्राम लौह भस्म मिला लें| इसको खरल करके 2 चुटकी सेवन करें| मोटापा दूर हो जाएगा और पेट अन्दर होने लगता है|
  • गाजर के 100 ग्राम रस में सलाद पत्तियों का रस मिलाकर सुबह दोपहर तथा शाम को नित्य पानी चाहिए| इससे चर्बी घटने लगती है|
  • बेल के पत्तों का चूर्ण, नीम के पत्तों का चूर्ण, साठी की जड़ का चूर्ण-तीनों आधा-आधा चम्मच लेकर मिला लें| इसकी छह खुराक कर लें| दो दिन इस चूर्ण को खाएं| बाद में दो सप्ताह तक इसका प्रयोग करें| मोटापा घटने लगेगा| और पेट अन्दर होने लगेता है|
  • मोटापे से पीड़ित व्यक्ति शहद का नित्य सेवन करने की आदत बना लें| रोज सवेरे उठकर चाय के बजाय एक गिलास गुनगुने गरम पानी में 2 चम्मच शहद घोलकर घूंट-घूंट पीएं| इसके अलावा सुबह-शाम सैर भी करें| जितना हो सके, पैदल चलने की कोशिश करें और आरामतलबी की आदत त्याग दें| वैसे शहद मिले गरम पानी का सेवन ही काफी है| यह इलाज थोड़ा लंबा है लेकिन 2-3 महीनों में शारीरिक अंतर स्पष्ट नजर आने लगता है| और पेट अन्दर होने लगता है|
  • हर रोज निराहार नीबू का रस पीने की आदत बना लें| रस गुनगुने पानी के साथ लें| थोड़ा-सा शहद भी मिला लें| दीर्घकालीन इलाज है| इसलिए धैर्य गंवाकर इलाज बीज में छोड़ने की भूल न करें| दो-ढाई महीने तक लगातार नीबू का रस सेवन करने से मोटापे पर प्रहार होगा और यह अंतर आप साफ देख सकेंगे|
  • मूली का सेवन हर रोज चार बार अवश्य करें| 50-60 मि॰ली॰ रस पर्याप्त है| रस में स्वादनुसार नमक भी डाल दें| सुबह-सुबह सूरज की धूप में रस पीना अधिक लाभदायक है| यह भी दीर्घकालीन इलाज है|
ज़रूर पढ़ें -   कब्ज का इलाज की देसी आयुर्वेदिक दवा व रामबाण उपाय

पतले होने के लिए क्या खाएं – Patle Hone ke Tips in Hindi

  1. आप को जितनी भूख हो उतना ही भोजन थाली में ले| कई बार हमारा पेट भरने के बाद भी हमे थाली में बचा भोजन को खत्म करने के लिए खाना पड़ता है|
  2. बहार का फास्ट फूड न खाए फास्ट फूड की बजाय फल फ्रूट ले कर खाए| पपीता खाने से चर्बी नहीं बढ़ती और मोटापा भी तेजी से कम होता है|
  3. गहूँ की रोटी नहीं खाना चाहिए| चने, सोयाबीन और गेहूं तीनों के मिश्रित आटे से बनी खाना चाहिए|
  4. अगर आप चावल या फिर ब्रेड खाते है तो इसकी बजाए ब्राउन ब्रेड और ब्राउन राइस खाये|
  5. खाने में सलाद की मात्रा अधिक होना चाहिए|
  6. मीठा नहीं खाना चाहिए क्यूंकि इसमें अधिक कैलोरी होती है| जादा मीठा खाने से बचे|
  7. अगर आप चाय या फिर दूध पीते तो उसकी बजाए ग्रीन टी पिए इससे आप का मोटापा बहुत तेजी से घटेगा और पेट अन्दर होने लगेगा|
  8. रात को सोने से 2 घंटे पहले भोजन खा लें| और रात को डिनर हल्का ले|

दोस्तों पेट अंदर करने के उपाय इन हिन्दी, Motapa kam karne ke liye gharelu tips in hindi का यह लेख आप को कैसा लगा हमें कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करे| और अगर आप के पास पेट अंदर करने और मोटापा कम करने का तरीका, घरेलू नुस्खे से वेट लॉस करने का तरीका और डाइट आहार से जुड़े सुझाव है| तो हमारे साथ सांझा करें|

Leave a Comment