दादी माँ के देसी घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार हिंदी में

Dadi Maa Ke Nuskhe in Hindi : घरेलू नुस्खों (Gharelu Nuskhe) के कोई साइड इफेक्ट नहीं होते और आप आसानी से इनका प्रयोग कर सकते है| अगर हम पुराने जमाने की बात करे तो उस समय में एलोपैथिक डॉक्टर नहीं आयुर्वेदिक वैद हुआ करते थे जो नब्ज देख कर ही पता लगा लेते थे की क्या बीमारी है| देसी जड़ी बूटियों से दवा बना कर उपचार किया करते थे| एक समय था जब दादी, नानी, इन उपाय व नुस्खे के जरिये बड़ी से बड़ी बीमारियों को भी घर पर ही ठीक कर देती थी|

दादी माँ के देसी घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार सालो से अपनाई जा रही है देसी घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार बहुत ही उपयोगी होता है| घरेलू नुस्खे / होम रेमेडीज़ का प्रयोग सिर्फ बीमारियों में ही नहीं, बल्कि अच्छी सेहत के लिए भी किया जाता है| इनसे उपचार करने में सेहत को कोई नुकसान नहीं होता| दादी माँ के नुस्खे ऐसे होते है जो बिना कोई नुकसान किये रोग को मिटा देते थे हमारे दादा-दादी, नाना-नानी आज भी अपने घरेलू नुस्खे से इलाज करना बेहतर समझते है| ये उपाय बहुत ही पुराने है इसके इलावा ये उपाय असरदार और सस्ते होते है Dadi Maa Ke Gharelu Nuskhe in Hindi.

जो घर पर किये जाने वाले नुस्खे है उन्हें दादी माँ के नुस्खे कहते है| त्वचा को निखारने के घरेलू नुस्खे, एक्ने के घरेलू नुस्खे, झड़ते बालों के लिए घरेलू नुस्खे, नये बाल उगाने हो, डायबिटीज के लिए घरेलू नुस्खे, डायरिया के घरेलू नुस्खे, वजन कम करना हो या बढ़ाना बढ़ाना हो घरेलू नुस्खे का प्रयोग फायदेमंद है|

ज़रूर पढ़ें -   प्रेग्नेंसी रोकने के अनचाहे गर्भ से बचने के आसान उपाय और टेबलेट नाम

दादी माँ के नुस्खे और घरेलू उपाय

Dadi Maa Ke Nuskhe : Gharelu Nuskhe in Hindi

  1. कान में कीड़ा घुस जाए तो पानी गर्म करके उस पानी में थोड़ा नमक मिलाकर कान में डालें फिर कान को उलटा कर दें| कीड़ा बाहर निकल आएगा|
  2. गला बैठ जाए या सूजन जाए तो ताजे पानी में नींबू निखोड़ कर गरारे करने से लाभ होता है|
  3. लहसुन को सरसों  के तेल में उबालकर कान में टपकाने से कान का दर्द ठीक हो जाता है|
  4. जिसे बार-बार मुंह या जीभ में छालें होते रहते है उसे टमाटर खाना चाहिए| मुंह के छालों के लिए टमाटर औषधि का कार्य करता है|
  5. नींबू के रस की सिर में मालिश करने से बालों का पकना व गिरना बंद हो जाता है|
  6. सूखे आंवले को रात में भीगने के लिए छोड़ दें| प्रात: इस पानी से सिर धोएं इससे बालों की जड़ मजबूत होती है|
  7. उड़द को पीसकर सफ़ेद दाग पर नित्य चार महीने तक लगाने से सफ़ेद दाग छूट जाएंगे|
  8. जले हुए अंग पर सरसों का तेल लगाने से छाले/फफोले नहीं पड़ते|
  9. जले स्थान पर कच्चा आलू पीस कर लगाने से जलन भी दूर हो जाती है|
  10. घी और शक्कर मिलाकर खाने से शरीर मोटा होता है|
  11. यदि किसी ने कोई विषैली वस्तु खा ली हो और कोई उपाय सूझता न हो प्राण संकट में हो तो लहसुन काफी मात्रा में खिला देना चाहिए| लाभ होगा एव बाद में डॉक्टर को भी दिखाएं|
  12. विषैली जन्तु, मधुमक्खी, विषैले कीड़े, बिच्छू आदि के काट लेने या डंक मारने पर प्याज पीस कर लेप करने से लाभ होता है|
  13. सांप के काट लेने पर रोगी को तुलसी की पत्ती खिलाते रहने से जहर कम होता है|
  14. खट्टे दही में नींबू का रस डाल कर सिर में मलने से कुछ दिनों में सारी जूएँ समाप्त हो जाती है|
  15. थक जाने पर गन्ना चूसने या उसके रस को पीने से थकावट गुर होती है|
  16. गन्ना या उसके रस का लगातार उपयोग करते रहने से ह्रदय रोग में लाभ होता हैं|
  17. दो केले खाकर ऊपर से एक पाव दूध एक महीने तक रोजाना पिए अवश्य मोटे हो जाएंगे|
  18. अमरूद के मुलायम पत्ते को चबाने से दांतों के दर्द में फायदा होता है|
  19. अगर किसी व्यक्ति ने शराब ज्यादा पी ली हो तो एक नींबू का रस पिलाने से नशा कम हो जाता है| या तेज कॉफी पीने से भी शराब व अफीम के नशे का प्रभाव कम हो जाता है|
  20. मधुमेह का रोगी अगर सुबह-शाम लम्बी दौड़ नित्य लगाए तो बिना औषधि के पेशाब में चीनी आना बंद हो जाएगी|
  21. सूती, ऊनी, सिल्कन व टेरीकोट आदि कपड़ों में दाग व धब्बे लग जाएं तो उन्हें नींबू के रस से छुड़ाएं| धब्बे बिल्कुल समाप्त हो जाएंगे| पीतल के बर्तन के दाग-धब्बे भी नींबू के रस से दूर हो जाते है|
  22. शौच करते वक्त दांतों से दांत खूब दबाकर बैठने से जीवन भर दांत नहीं हिलते और लकवा भी नहीं होता|
  23. हाथ-मुंह धोते समय मुंह में एक घूंट पीना रखकर आंखों में पानी के छीटें दें, इससे आंखों की रोशनी बढ़ जाती है|
  24. पसलियों में दर्द उठने पर राई को पीसकर उसका लेप बार-बार दर्द वाले स्थान पर लगाएं|
  25. जुखाम हो गया हो तो थोड़ी-सी सौंठ कूटकर गुड़ मिलाकर पानी में उबाल लें| जब वह अच्छी तरह पक जाए तो छान कर दिन में तीन-चार बार पिएं|
  26. हाथ या पैर सुन्न हो जाएं तो लहसुन की लकियों के साथ थोड़ी-सी सौंठ प्रतिदिन खाली पेट खाएं|
  27. दूध के साथ चुटकी भर पिसी हुई हल्दी मिला कर सेवन करने से चर्म रोगी नहीं होते|
  28. एक कप दूध में पिसी इलायची मिला कर सेवन से सिरदर्द में आराम मिलता है|
  29. त्वचा अगर खुश्क हो तो नींबू के रस को ग्लिसरीन में मिलाकर लगाएं|
  30. ठंड लगाने पर बुखार आने पर एक चम्मच करेले के रस में जीरा और गुड़ मिलाकर लेना लाभप्रद है|
  31. सर्दी में कानों में कुलबुलाहट को दूर करने के लिए प्याज के रस को थोड़ा गरम करके 4 से 5 बूंद कानों में डालें|
  32. बलगमी खांसी हो गई हो तो सौंठ बारीक पीसकर दिन में तीन-चार बार चूर्ण के रूप में शहद में मिला कर लें|
  33. 1 चम्मच आंवला चूर्ण और 1 चम्मच शहद में 2 चम्मच आंवले का रस मिलाये और दिन में 2 बार इसका सेवन करे सुबह और शाम| इसके सेवन से मर्दाना कमजोरी या नपुंसकता का इलाज होता है| इसका इलाज आयुर्वेदिक तरीके से करने पर इस नुस्खे से यौन शक्ति बढ़ती है|
ज़रूर पढ़ें -   सफेद दाग का इलाज 10 आसान उपाय व आयुर्वेदिक दवा

हेल्लों दोस्तों दादी माँ के देसी घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार हिंदी में का यह लेख आप को कैस लगा हमे कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|