डेंगू का इलाज के रामबाण घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

Dengu ka ilaj ke gharelu upay aur ayurvedic nuskhe in hindi : डेंगू ज्वर (Dengue Fever) को Break bone Fever, Dandy Fever तथा Three day Fever भी कहते है इस ज्वर का कारण वही है जो अन्य प्रकार के ज्वरों का अर्थात शरीर में विजातीय द्रव्य का एकत्र होना| इस ज्वर के कुछ विशेष लक्षण है अर्थात यह अचानक आता है और तेजी से बढ़ता है तथा अच्छा हो-हो कर पुन: पुन: आक्रमण करता है|

डेंगू का इलाज के रामबाण घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

कभी-कभी तो चार-चार बार वापस आता है ज्वर का आरम्भ जोड़ों और हड्डियों में दर्द होकर होता है| उसके बाद मुंह लाल हो कर सारे शरीर में छोटी-छोटी फुंन्सियां सी निकलती है| रोगी की बेचैनी बढ़ जाती है बुखार 102 डिग्री से 105 डिग्री तक हो जाता है| दो-तीन दिन में रोग शांत हो जाता है, मगर तीन चार दिन बाद पुन: वापस आता है| कभी-कभी तो यह बुखार एक महीने तक भी टिका रहता है| डेंगू एक ऐसी लाइलाज बीमारी है जिसका अभी तक कोई साबित दवाएं नहीं बनी है डेंगू बुखार होने पर शरीर में प्लेटलेट्स कम होने लगती है|

खून की कमी होने लगती है| डेंगू बुखार ‘डेन वायरस’ के करण होता है| एक बार शरीर में वायरस जाने के बाद डेंगू के बुखार के लक्षण आमतौर पर 5 से 6 दिन के भीतर दिखाई देने लगते है| डेंगू बुखार का वायरस एडीज़ नामक मादा मच्छर के काटने से होता है डेंगू मच्छर ज़्यादातर दिन में काटते है और ये साफ पानी में फैलते है| कूलर, टंकी और ड्रम में पड़े पानी में अंडे देते है| बहुत से लोग डेंगू होने पर घबरा जाते है| इस लेख में डेंगू का इलाज के घरेलू नुस्खे और उपाय के साथ ही साथ इसके लक्षण और बचाव के बारे में पढ़ेंगे और जानेंगे डेंगू बुखार में क्या करे, natural home remedies for dengue for fever treatment in hindi 

डेंगू बुखार होने के कारण : Dengu Causes

यह तो ज़्यादातर लोग जानते है के डेंगू बुखार मच्छर के काटने से होता है| अगर किसी व्यक्ति को डेंगू बुखार है और उसे कोई दूसरा मच्छर काट ले तो उस मच्छर में भी इस बीमारी का वायरस चला जाता है और अगर वही मच्छर किसी और व्यक्ति के काट ले तो वो भी इस वायरस का शिकार हो जाता है|

ज़रूर पढ़ें -   तुरंत पेट साफ करने की दवा 10 आसान घरेलू उपाय और योगा

डेंगू के लक्षण : Dengu Symptoms

  • अचानक से तेज बुखार हो जाना|
  • मतली या उल्टी होना|
  • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना|
  • ठंड लगना|
  • आँखों के पीछे दर्द होना|
  • स्किन पर लाल चकत्ते पड़ना और जलन महसूस होना|
  • कमजोरी और चक्कर आना|
  • भूख ना लगना|
  • दस्त

डेंगू का इलाज के घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

Dengu ka ilaj Ke Gharelu Upay aur Ayurvedic Nuskhe

डेंगू बुखार का उपचार करने के लिए पपीते के पत्ते, गेहूं का ज्वारा, एलोवेरा, गिलोय इन सब को एक साथ मिलाकर इनका रस बना ले और इस रस को पिए| डेंगू के बुखार में इस रस को पीने से बहुत लाभ मिलता है| ये घरेलू उपाय चिकनगुनिया के इलाज में काफी फायदेमंद है| अगर यह उपाय आप ना कर पाये तो गिलोय का पानी दिन में 2 से 3 बार पिए, इससे भी डेंगू के इलाज में फायदा होता है|

खून की कमी दूर करने के लिए गिलोय के रस में शहद या घी मिला कर सुबह शाम पिए|

बाबा रामदेव डेंगू बुखार का रामबाण इलाज

अगर कोई व्यक्ति डेंगू बुखार से पीड़ित हो तो उसके उपचार के लिए थोड़े से गिलोय के पत्ते पीस लें और उसमें 5 से 6 तुलसी के पत्ते मिला कर 1 गिलास पानी में मिला कर काढ़ा बना लें और रोगी को पिलाये| इसके अलावा 3 से 4 चम्मच एलोवेरा का रस पानी में मिला कर रोज सेवन करे इसके सेवन से आप बहुत सी बीमारियों से बच सकते है| प्लेटलेट्स जल्दी बढ़ाने के लिए इसमें पपीते के पत्तों का रस मिला कर सेवन करें| Baba Ramdev की बतायी हुई दवा डेंगू, स्वाइन फ्लू और चिकनगुनिया के उपचार में बहुत फायदेमंद है|

ज़रूर पढ़ें -   कब्ज का इलाज करने के 10 आसान उपाय घरेलू उपाय इन हिन्दी - Constipation Tips in Hindi

होम्योपैथिक मेडिसिन से डेंगू का उपचार

राजीव दीक्षित जी होम्योपैथिक और आयुर्वेदिक के विशेषज्ञ थे इन्होंने लोगों को आयुर्वेदिक नुस्खे और घरेलू उपाय के बारे में बताया है और ये बताया की स्वस्थ जीवन कैसे जी सकते है| डेंगू बुखार के उपचार के लिए राजीव दीक्षित ने कुछ होम्योपैथिक दवाओं के बारे में बताया है आइये जानते है दवाओं के नाम क्या है|

  • Aconite – 200
  • Rhus tox – 200
  • Bryonia – 200
  • Arsenicum – 200
  • Belladonna – 200
  • Dulcamara – 200

ये दवा रोगी के शरीर में खून की कमी को पूरी करती है| इन दवाओं का सेवन करने से पहले किसी होम्योपैथिक डॉक्टर से मिले सलाह लें और इनके इस्तेमाल का सही तरीका जाने|

डेंगू से बचने के उपाय और तरीके – Dengu se Kaise Bache

  1. कीटनाशक का प्रयोग करके मच्छरों से बचा जा सकता है|
  2. पानी काही भी इखट्टा ना होने दें|
  3. अपने घर में साफ सफाई रखे और आप जिस जगह पर पानी रखे तो उसे ढक कर रखे|
  4. डेंगू के मच्छर भागने के लिए तुलसी के पौधे अपने घर पर लगाए|  तुलसी के पौधे से डेंगू के मच्छर भाग जाते है|
  5. मच्छर भागने के लिए घर में मशीन या फिर कॉइल लगा कर रखे| पूरे कपड़े पहने और रात को सोते समय मच्छरदानी का इस्तेमाल करे|

हेल्लों दोस्तों डेंगू का इलाज के रामबाण घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे यह लेख आप को कैसा लगा हमे कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|