गले और छाती में जमा कफ (बलगम) का इलाज 5 आसान उपाय

Gale Aur Chati Me Kaf (Balgam) Ka Ilaj Aur Upay in Hindi : गले और छाती में कफ (बलगम) का इलाज और उपाय इन हिंदी| अगर आपको गले और छाती में कुछ जमा हुआ सा महसूस हो या फिर सांस लेने में तकलीफ हो रही हो तो समझ जाएं की ये लक्षण कफ जमा होने के हैं| बदलते मौसम के कारण सर्दी, खांसी, जुखाम, बुखार के साथ ही गले और छाती में बलगम बनने लगता है बलगम बनने से सांस लेने में तकलीफ होने लगती है| यह अपने साथ सेहत से जुड़ी बहुत सी परेशानियां लेकर आती है

जैसे की छाती (सिने) और गले में कुछ जमा हुआ, लगातार नाक बहना, गले में खराश खिचखिच होना, सांस लेने में तकलीफ होना, छाती जाम होना, ये सब कफ के लक्षण होते है| लोग इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए दवा और सिरप का सेवन करते है लेकिन इससे जल्दी फर्क महसूस नहीं होता| पर देसी इलाज और आयुर्वेदिक उपचार अपना कर आसान तरीके से कफ निकालने के घरेलू उपाय किये जा सकते है| इस इस लेख में हम जानेंगे गले और छाती में जमा कफ कैसे निकाले, natural, ayurvedic home remedies (gharelu nuskhe) for cought balgam treatment in hindi.

कफ की समस्या ज्यादा गंभीर नहीं होती लेकिन ये लम्बे समय तक रहे तो सांस से जुड़े रोग हो सकते है| अगर आप को बलगम के साथ खून आता हो तो तुरंत डॉक्टर से मिले और जाँच कराये और राय मशफरा ले ताकि आप किसी भी गंभीर बीमारी से बच सकें|

बलगम जमने के कारण 

  • फ्लू और सर्दी जुखाम होने से|
  • साइनस के रोग होने से|
  • वायरल इन्फेक्शन और बैक्टीरियल होने से|
  • सिगरेट बीड़ी और ज्यादा धूम्रपान करने से|
ज़रूर पढ़ें -   बाल उगाने के उपाय और गंजेपन का इलाज 10 आसान तरीके

छाती में कफ के लक्षण

  • खांसी के साथ बलगम का आना|
  • सीने में दर्द होना और सांस लेने में तकलीफ होना|
  • खाँसने में घरघराहट की आवाज और जकड़न होना|
  • लगातार छीकें आना और गले में खराश होना|

कफ का इलाज घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक उपचार

Cough Ka ilaj Gharelu Nuskhe Upay in Hindi

  1. गले की बलगम का देसी इलाज करने के लिए तुलसी काफी फायदेमंद होती है| खांसी किसी भी कारण से उठ सकती है| नीचे लिखे नुस्खा बना लें और चूसकर खाने से आराम मिलता है| नीचे लिखे पदार्थ पीसकर चने बराबर गोली बनाकर खाइए – तुलसीदल-10 ग्राम, पीपरी-10 ग्राम, कत्था-10 ग्राम, काली मिर्च-10 ग्राम, अनारदाना-20 ग्राम, जौखार-5 ग्राम, गुंड – 20 ग्राम, इसके लिए आप ‘बेनाड्रिल सीरप’ एक-एक चम्मच सुबह-दोपहर-शाम पी सकते हैं| यह खांसी की उत्तम दवा है| इससे खांसी न रुके तो फौरन ‘एक्सरे’ जांच करवाएं| हो सकता है आपके फेफड़ों में नुक्स हो|
  2.  बलगम बाली खांसी से छुटकारा पाने के लिए अदरक का नुस्खा कारगर होता है गुंड पीसकर एक चम्मच सोंठ का चूर्ण भूनिये, एक चुटकी अजवाइन भी डालिए| इसे खाकर और साथ में गर्म दूध पीकर कम्बल ओढ़ लीजिए| खुलकर पसीना आयेगा, बुखार तो उतरने लगेगा मगर जब तक कफ नहीं निकलेगा तब तक दोबारा भी चढ़ेगा और खांसी भी रहेगी|
  3. प्याज काटकर और  काटकर और मिर्च मसाले डालकर ‘सूप’ अथवा काढ़ा बना कर पियें| या प्याज रस में शहद मिलाकर चाटें| रात में खाने के साथ एक प्याज भी खा सकते हैं| खांसी दूर होगी|
  4. शहद के साथ बहेड़े का चूर्ण नौसादर मिलाकर खिलाते रहें| दो सौ ग्राम बहेड़े के छिकले लगाकर तवे पर भूनकर पीस लें| दस ग्राम नौसादर भी तवे पर सेंककर चूर्ण में एकजान करके छान लें| ढाई-तीन ग्राम चूर्ण दस ग्राम शहद में मिलाकर चाट लें| श्वास-नली, फेफड़े, दिल, आँतें, और पेट स्वच्छ होकर ताजादम होने लगेंगे| यह दवा दिन में चार बार ले सकते है| दवा के तौर पर दिन में चालीस-पचास ग्राम शहद भी नुक्सान नहीं करेगा| अगर पित्त प्रकृति का रोगी हो या कड़कती गर्मी के दिन हों तो शहद पांच-पांच ग्राम लेते रहें| प्यास लेगे तो खूब पानी पी सकते हैं|
  5. धनिये के दानों को आटे की तरह बारीक पीसें, फिर दो ग्राम की मात्रा में धनिया आठ ग्राम शहद में चटाएं, खांसी दूर हो जाएगी|
  6. लहसुन की 2 से 3 कलियां राख में भून लें| उस पर नमक लगाकर दिन में 2 से 3 बार खाने से खांसी-जुकाम में आराम मिलता है|
  7. अदरक का 2 चम्मच रस शहद में मिलाकर चाटें| यह क्रिया दिन में 2 से 3 बार करें तो खांसी जाती रहेगी|
ज़रूर पढ़ें -   योगा करने का सही तरीका और बाबा रामदेव के 10 जरूरी योगा नियम

बलगम वाली खांसी का इलाज और घरेलू उपाय

  1. खांसी कैसी भी हो, सुखी या बलगमी, इसके शमन में हल्दी का उपचार बहुत गुणकारी है| इसमें किसी तामझाम में पड़ने की जरूरत नहीं| बस, हल्दी की गांठ के कुछ टुकड़े चाकू से काटकर जेब में राख लें| जब भी खांसी का प्रकोप सताए, हल्दी का एक टुकड़ा मुंह में राख कर चूसें| दिन में 4 या 5 टुकड़े तो चूस ही लें| एकाध दिन में सुखी अथवा बलगामी खांसी से छुटकारा मिल जाएगा|
  2. कालीमिर्च, तुलसी के पत्ते व लौंग को एक कप पानी में उबालें| जब पानी आधा कप रह जाए, तब उस क्वाथ का सेवन करें| इसमें 2 से 4 बताशे भी दल दें| इसके खांसी के साथ-साथ हलका ज्वर भी ठीक होता है|
  3. अंजीर खाने से छाती में जमा बलगम निकल जाता है|
  4. खांसी होने पर प्याज का अर्क व शहद का सेवन करने से भी लाभ होता है|
  5. 250 ग्राम अमलतास के गूदे को 375 मिलीलीटर पानी में रात को भिगो दें| सुबह उसे मसलकर छानें और उसमें 750 ग्राम चीनी मिलाकर चाशनी बनाएं| इस औषधि को 3-3 ग्राम दिन में 4 बार चाटने से खांसी में तुरंत राहत मिलती है|

कफ को दूर करने के आसान उपाय 

  1. सुबह को खाली पेट 7 या 8 काली मिर्च मुंह में डाल कर चबा लें यह उपाय शरीर से बलगम बाहर निकालने में बहुत लाभकारी होता है यह उपाय 10 से 12 दिन तक करे|
  2. एक गिलास पानी गरम करे और उसमें थोड़ा सा नमक डाल लें| फिर इस पानी से गरारे करे| यह उपाय दिन में दो बार करे सुबह और शाम इस उपाय से गले और नाक का जमा बलगम बाहर निकलने लगता है|
  3. एक अदरक का टुकड़ा ले और उस पर नमक लगा कर चबा-चबा कर उसका रस को चूसे इस उपाय से जमा बलगम बाहर निकल जाता है|
  4. शरीर से बलगम निकालने के लिए आप दिन भर में हर घंटे पानी पिए क्यूंकि पानी हमारे शरीर की गंदीगी को साफ करता है और बाहर निकालता है|
  5. सिगरेट, बीड़ी आदि के सेवन न करे, यह शरीर के लिए हानिकारक होता है| यह बलगम को बढ़ाता है यह शरीर की ठीक होने की क्षमता को रोकता है|
ज़रूर पढ़ें -   पेट में गैस का इलाज के 10 आसान उपाय और रामबाण घरेलू नुस्खे इन हिन्दी

हेल्लों दोस्तो गले और छाती में जमा कफ (बलगम) का इलाज 5 आसान उपाय का यह लेख आप को कैसा लगा हमे कमेंट करे और अपने दोस्तो के साथ शेयर करें|