कपालभाति करने का सही तरीका फायदे नुकसान और सावधानी

Kapalbhati karne ka tarika sahi samay aur fayde in hindi : योगा और प्राणायाम ना सिर्फ रोगों के इलाज में फायदा करते है बल्कि अच्छी सेहत पाने और स्वस्थ रहने में भी उपयोगी है दिनभर आप तमाम काम करते हुए थक जाते है| काम के कारण आपका खान-पान भी अनियमित रहता है| और आपके पास एक्सरसाइज का भी टाइम नहीं रहता है ये आदत आपको हल्के-हल्के बीमार कर देती है|

कपालभाति करने का सही तरीका फायदे नुकसान और सावधानी

अगर आप व्यस्त दिनचार्य में अपने शरीर और मन को शांत रखना चाहते है तो यह योगा अच्छा विकल्प है| कपालभाति प्राणायाम एक ऐसा आसान है जिसमें सभी योगासनों का फायदा मिलता है| अक्सरबहुत से लोगों का कहना होता है की बहुत समय कपालभाति करने के बाद भी उन्हें कोई फायदा नहीं हुआ|

अगर आप को कपालभाति योगा करने का सही तरीका नहीं पता हो तो इस से फायदा होने की वजह नुकसान भी हो सकता है| कपालभाति योगा कब कितने मिनट करना चाहिए और कब नहीं करना चाहिए अगर आप को इसके नियम, विधि और सावधानी के बारे में पूरी जानकारी हो तो कुछ ही दिनों में फायदे दिखने लगते है| आज इस लेख में हम जानेंगे कपालभाति प्राणायाम कैसे करे, baba ramdev kapalbhati pranayam karne ka tarika aur fayde in hindi. 

कपालभाति करने के नियम – Kapalbhati in Hindi

  • कपालभाति योगा करने का समय सबसे अच्छा सुबह का होता है|
  • सुबह को पेट साफ करने के बाद इस प्राणायाम को करना चाहिए|
  • प्राणायाम और योगा करने से कम से कम 20 मिनट पहले और बाद कुछ खाएं पिए नहीं|
  • इस योगा को करते वख्त तनाव बिल्कुल भी ना ले और मन शांत रखे|
  • कपालभाति करने से 15 या 20 मिनट पहले और बाद पानी पी सकते है|
  • अगर आप शाम को योगा करते है तो कम से कम खाना खाने से 3 घंटे बाद ही करे|
ज़रूर पढ़ें -   योगा करने का सही तरीका और बाबा रामदेव के 10 जरूरी योगा नियम

कपालभाति करने का तरीका और सही समय

Kapalbhati Pranayam Karne Ka Tarika in Hindi

  1. कपालभाति प्राणायाम करने की विधि जानने से पहले नियम को अच्छे से पढ़ लें क्यूंकि प्राणायाम और योगासन करने का फायदा तब मिलता है जब बताये गये नियमों का पालन करते है|
  2. सबसे पहले खुली जगह पर आसान बिछा कर अच्छे से बैठे और अगर आप अपने कमरे में बैठे तो ध्यान रहे कमरा हवादार हो और कमरे में AC चला कर ना बैठे|
  3. अब अपनी कमर और सिर सीधा करे, दोनों हाथ घुटनों पर रखे और चेहरा सामने की ओर करे| अपनी आंखे बंद कर लें शरीर को ढीला छोड़ दें और मन शांत करे और अपना ध्यान अपनी सांसों पर लगाए|
  4. इस योगा को करने के लिए आप अपने नाक के दोनों छिद्रों से सांस बाहर की ओर छोड़े और पेट अंदर की ओर करे| ज्यादा ज़ोर से सांस ना छोड़े|
  5. बिना कोशिश करे आराम से सांस लें और नाक से सांस छोड़े| इस योगा को तेज तेज ना करे 1 सेकंड में 1 ही बार सांस छोड़े और लें|
  6. सांस छोड़ते समय और लेते समय पेट की मांसपेशियां ही हरकत करे छाती और कंधे सीधे रहे|
  7. कपालभाति योगा कम से कम शुरू में 15 से 20 बार जरूर करे और हल्के हल्के इसे बढ़ाये| इस योगा को लगातार करने के बाद 1 मिनट में 40 से 50 बार कर सकते है|
  8. कपालभाति योगा 1 बार में 5 मिनट और कुल मिनट तक करना चाहिए और 10 मिनट तक अनुलोम विलोम भी कर सकते है| इसे ज्यादा देर करने की बजाय सही तरीके से करने की कोशिश करे|
  9. कुछ लोगों का सवाल होता है की योगा व प्राणायाम करने के बाद और पहले कुछ खा पी सकते है| जवाब यह है की योगा प्राणायाम करने से पहले और करते वख्त कुछ ना खाए पिए, 20 से 25 मिनट पहले पानी पी सकते है| योगा करने के आधा घंटे बाद आप खा पिए सकते है|
  10. अगर आप इसे शुरू करना चाहते है तो यह किसी योगा गुरु की रेख देख में करे और अगर आप इसे घर पर ही करना चाहते है तो कपालभाति प्राणायाम बाबा रामदेव की वीडियो देख कर भी सिख सकते है|
ज़रूर पढ़ें -   भूख कम करने और मोटापा घटाने के 7 आसान उपाय और तरीके

कपालभाति के फायदे और नुकसान – Kapalbhati Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

  • कपालभाति योगा करने से दिमाग और मन शांत होता है और मानसिक तनाव कम होता है और हिम्मत बढ़ती है|
  • शुगर से पीड़ित रोगी के लिए कपालभाति योगा करने से लाभ मिलता है| इससे शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है|
  • कपालभाति प्राणायाम करने से चेहरे पर निखार आता है और आखों के नीचे के काले घेरे दूर होते है| और स्किन पर चमक आती है|
  • रोजाना इस योगा को करने से खून का प्रेशर अच्छा होता है| जिससे शरीर के सभी अंग अच्छे से काम करते है|
  • पेट की अन्य बीमारिया दूर होती है और पाचन शक्ति अच्छा होता है लेकिन इस योगा को कब्ज होने पर ना करें|
  • वजन घटाने और मोटापा कम करने के लिए यह योगा बहुत फायदेमंद होता है| मोटापा कम करने के उपाय करने के साथ ही साथ कलपभती जरूर करें|
  • ऐसे बहुत से रोग है जिन्हे कपालभाति करने से नुकसान भी हो सकता है, जैसे की हर्निया, अल्सर, पीलिया, बुखार, हाई ब्लड प्रेशर, ह्रदय और लिवर के रोग|

कपालभाति में सावधानी

  • इस योगा को तेज गति और ज़ोर लगा कर ना करे|
  • प्रेग्नेंट महिला को कपालभाति योगा नहीं करना चाहिए| प्रेग्नेंसी के कुछ कुछ योगा है को महिला कर सकती है|
  • पीरियड्स के दौरान इस योगा को नहीं करना चाहिए पीरियड्स में इससे फायदे की वजह नुकसान हो सकता है|
  • इस योगा को करने के बाद नहाना नहीं चाहिए|
  • प्राणायाम को करते समय कही दर्द होने लगे या चक्कर आने लगे तो इसे करना बंद कर दें|
ज़रूर पढ़ें -   अजीनोमोटो एक मीठा जहर जाने इसके नुकसान - Ajinomoto (MSG) side effects in hindi

हेल्लों दोस्तों कपालभाति करने का सही तरीका फायदे नुकसान और सावधानी का यह लेख आप को कैसा लगा हमे कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|

Leave a Comment