माइग्रेन के लक्षण कारण आसान उपाय और दवा – Migraine Treatment in Hindi

Migraine sir dard ka ilaj ki dawa lakshan aur upay in hindi : माइग्रेन आधासीसी या अधकपारी नए जमाने की लाइफस्टाइल प्रॉब्लम है माइग्रेन असल में बेहद गंभीर और बार-बार होने वाला सिरदर्द है| इस भागदौड़ और तनाव भरी जिंदगी में ज्यादातर लोगों को सिर दर्द की शिकायत रहती है माइग्रेन की वजह से सिर के एक हिस्से में असहनीय तेज दर्द होने लगता है| कई बार तो यह दर्द मिनटों में ठीक हो जाता है तो कई बार यह दर्द घंटों तक बना रहता है|

माइग्रेन का दर्द कोई नॉर्मल दर्द नहीं है यह दर्द किसी भी हिस्से में हो सकता है और जब आधा सिर दर्द करने के साथ उल्टी भी आपने लगे तो यह रोग और भी गंभीर हो जाता है| दोस्तों माइग्रेन के आधे सिर दर्द का इलाज करने में कभी लापरवाही नहीं करनी चाहिये क्योंकि समस्या बढ़ने पर यह लकवा और दिमाग से जुड़ी कई गंभीर रोगो की वजह भी बन सकता है| इस बीमारी को ठीक करने के लिए कुछ लोग दवा का सहारा लेते है लेकिन कुछ समय के लिए ही आराम मिल पता है लेकिन हम बिना दवा के देसी घरेलू नुस्खे आयुर्वेदिक उपचार और बाबा रामदेव योगा अपना कर माइग्रेन को जड़ से खत्म कर सकते है| आज इस लेख में हम जानेंगे, Migraine ko thik karne ke upay kaise kare, natural home remedies and homeopathic medicine for migraine headaches and half head relief treatment in hindi. 

माइग्रेन के लक्षण क्या है 

  • भूख कम लगना और कमजोरी महसूस होना
  • जी मचलाना, उल्टी आना और किसी काम में मन ना लगना
  • आँख में दर्द होना और धुंधला दिखाई देना
  • तेज रोशनी और ज्यादा आवाज में घबराहट होना
  • बार-बार आधे या पूरे सिर में दर्द होना
  • आधा सिर दर्द होने के साथ ही साथ अगर इनमे से कोई लक्षण आपको दिखे तो तुरंत डॉक्टर से मिले और सलाह लें|
ज़रूर पढ़ें -   पिचके पतले गाल मोटा कैसे करे 10 आसान उपाय इन हिंदी

आधा सिर दर्द का कारण 

  • मौसम में बदलब होने की वजह से
  • दिन भर ज्यादा भाग दौड़ करना और नींद पूरी ना होना
  • दर्द निवारण वाली दवा का ज्यादा सेवन करना
  • ज्यादा तनाव में रहना और टेंशन ज्यादा लेना
  • हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित व्यक्ति के सिर दर्द की समस्या ज्यादा होती है

माइग्रेन आधे सिर दर्द का इलाज घरेलू उपाय और नुस्खे

Migraine Sir Dard Ka ilaj Aur Gharelu Upay in Hindi

  1. माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए रोजाना शुद्ध देसी घी की 2-2 बुँदे नाक में डाले| इससे आपको माइग्रेन दर्द से राहत मिलेगी|
  2. गाय के देसी घी में थोड़ा सा कपूर मिलाकर सिर की हल्की-हल्की मालिश करना एक अच्छा आधा सिर दर्द घरेलू उपाय है|
  3. आधा सिर दर्द की समस्या से जल्दी राहत पाने के लिए नींबू के चिलको को पीस पर इसका पेस्ट बनाये और माथे पर लगाए|
  4. माइग्रेन को जड़ से खत्म करने के उपाय करने के साथ ही साथ पानी भी ज्यादा से ज्यादा पीने चाहिए| माइग्रेन ठीक करने में पानी रामबाण का काम कर सकता है. इसके अलावा आप चाय का सेवन भी कर सकते है|
  5. सुबह-सुबह खाली पेट सेब का सेवन करे माइग्रेन से राहत पाने के लिए रोजाना इस उपाय को करें|
  6. माइग्रेन के दर्द से तुरंत छुटकारा पाने के लिए सिर के जिस हिस्से में दर्द हो वहा पर हल्के गर्म तेल से मालिश करे और साथ में गर्दन, हाथों, पैरों और कंधों की भी मालिश करें|
  7. माइग्रेन का अटैक आने पर पीड़ित रोगी को बेड पर लेटा पर सिर को बेड से नीचे की तरफ लटका दे| अब सिर के जिस हिस्से में दर्द हो रहा हो उस तरफ की नाक में सरसों के तेल की कुछ बुँदे डाले और रोगी को सांस उपर खिंचने को बोले| इस घरेलू नुस्खे से थोड़ी देर बाद सिर दर्द खत्म हो जाएगा|
  8. माइग्रेन के लिए योगा बाबा रामदेव में अधो मुखा स्वानसना, शिशुयासना, जानु सिरसासाना, भ्रामरी प्राणायाम, अनुलोम विलोम प्राणायाम|
  9. राजीव दीक्षित के देसी नुस्खे माइग्रेन का उपचार में पालक और गाजर का जूस पीना बहुत फायदेमंद है 1 गिलास पालक और 1 गिलास गाजर का जूस मिला कर सेवन करें|
  10. ज्यादा टेंशन लेना इस बीमारी का एक बड़ा कारण है, इसलिए माईग्रेन से बचने के लिए ज्यादा तनाव लेने से भी बचे| योगा प्राणायाम और मेडीटेशन से आप खुद को टेंशन से दूर रख सकते है|
ज़रूर पढ़ें -   लिवर की कमजोरी का इलाज के 10 आसान उपाय और लक्षण

माइग्रेन आधा सिर दर्द की दवा

  • माइग्रेन की पतंजलि बाबा रामदेव आयुर्वेदिक दवा है – पतंजलि दिव्य प्रवाल पिशता, दिव्य धारा तेल, गोदनता भस्मा|
  • माइग्रेन की होम्योपैथिक दवा इन हिंदी – संगुइनरिया कनडेन्सिस, बेल्लाडोन्ना, स्पीगेलिया, सेपिया|
  • अगर आप कोई भी आयुर्वेदिक, अंग्रेजी या होम्योपैथिक दवा लेना चाहते है तो सबसे पहले डॉक्टर से मिले और दवा लेने का सही तरीका जरूर जाने|
  • तेज खुशबू वाले सेंट लगाने से बचे और तेज धूप में ना जाए|
  • आधे सिर में दर्द से पीड़ित रोगी को खाने पीने की गलत आदतों से दूर रहना चाहिए और भोजन समय पर करना चाहिए|
  • तुसली के पत्ते का रस शहद के साथ मिला कर चाटे. इस उपाय को करने से कुछ ही दिनों में माइग्रेन दर्द से राहत मिलने लगता है|
  • पानी ज्यादा से ज्यादा पिए रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पिए और रात को सोने से पहले तांबे के बर्तन में पानी भर कर रखे और सुबह खाली पेट इस पानी को पिए|

हेल्लों दोस्तों माइग्रेन के लक्षण कारण आसान उपाय और दवा – Migraine Treatment in Hindi का यह लेख आप को कैसा लगा हमें कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|

Leave a Comment