प्रेग्नेंसी के अलावा पीरियड्स लेट होने के कारण – Late Periods in Hindi

Periods late hone ke karan in hindi : अगर देखा जाए तो पीरियड्स महिलाओं के लिए समस्या नहीं, बल्कि प्रक्रतिक का विशेष उपहार है लेकिन जब यह अनियमित हो जाए तब यह एक समस्या बन जाती है| पीरियड्स के दौरान महिलाओं को अनगिनत परेशानियों का सामना करना पड़ता है. लेकिन सबसे ज्यादा समस्या अनियमित पीरियड्स की वजह से होती है| पीरियड को हम माहवारी, Mc और मासिक धर्म के नाम से भी जानते है

पीरियड मिस होना, लेट होना, जल्दी आना या फिर बंद हो जाना, इसकी कई वजह हो सकती है पीरियड मिस होने और पीरियड ना आने की स्थिति में महिलाओं के  मन में सबसे पहले प्रेग्नेंसी का ख्याल आता है की कहीं वो प्रेग्नेंट तो नहीं है| आज के इस लेख में हम जानेंगे की प्रेग्नेंसी के अलावा मासिक धर्म में देरी की वजन क्या है और शादी के बाद पीरियड्स प्रॉब्लम की वजह और उपाय| आइये जाने पीरियड्स ना आने के कारण क्या है, reasons for late periods, missed periods and irregular periods problem in hindi.

अगर महिलाओं को पीरियड आने में देरी हो जाए तो उनमें तनाव बढ़ने लगता है और वे माहवारी लाने के लिए तरह-तरह की दवा सेवन करने लगती है और कुछ महिलाएं मासिक धर्म को नियमित करने के लिए घरेलू नुस्खे से इलाज करने लगती है| इस लेख में हम बस आपको यह बताना चाहते है कि पीरियड लेट होने या बंद होने पर घबराने कि जरूरत नहीं है प्रेग्नेंसी के अलावा पीरियड्स देरी होने के कुछ सामान्य कारण भी हो सकते है|

पीरियड्स लेट होने के कारण : अनियमित मासिक धर्म – Reasons for Late Periods in Hindi

एक सामान्य लड़की और महिला का मासिक चक्र 28 दिन का होता है लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है की ये सबके लिए एक जैसा ही हो| कुछ महिलाओं का मासिक चक्र 18 से 35 दिन तक का भी होता है पीरियड मिस या लेट होने के कुछ कारण हम आपको यहां बताने जा रहे है इन्हें पढ़ने के बाद आपको अपने पीरियड्स में देरी होने वजह का अंदाजा लग जाएगा फिर आप घरेलू नुस्खे से लेट पीरियड्स का सलूशन कर सकते है|

ज़रूर पढ़ें -   कपालभाति करने का सही तरीका फायदे नुकसान और सावधानी

1. अगर आपके पीरियड्स हाल ही में शुरू हुए है तो आपको पीरियड्स में देरी होने पर घबराने कि जरूरत नहीं है| कुछ लड़कियों को शुरू में अनियमित पीरियड्स की परेशानी होती है जो हल्के-हल्के ठीक हो जाती है|

2. कुछ महिलाएं अपने शारीरिक रोगों का इलाज लंबे समय तक चलती है जिसमें तरह-तरह की दवा खानी पड़ती है और इसमें पीरियड्स देरी से आने की परेशानी आम है एक बार रोग का इलाज होने के बाद पीरियड्स नॉर्मल होने लगते है|

3. अचानक से दिनचार्य में बदलाव आने से भी पीरियड्स पर असर पड़ता है| जैसे की परीक्षा की त्यारी कर रही लड़कियों का सोने जागने का समय अचानक से बदल जाता है इसके अलावा कुछ कामकाजी महिलाओं को रात में ड्यूटी करनी पड़ जाये तो उनका सोने, जागने और दूसरे सभी काम करने का समय बदल जाता है जिसका असर मासिक धर्म चक्र पर पड़ता है|

4. थायराइड का रोग भी मासिक चक्र को प्रभावित करता है जिस कारण पीरियड मिस होने या पीरियड delay होने की परेशानी होने लगती है अगर आप thayroid के रोग से ग्रस्त है तो इसे ठीक करने के लिए इलाज करे और समय समय पर जाँच करवाए|

5. माहवारी लेट आना या ना होना और अन्य पीरियड्स प्रॉब्लम की एक वजह पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) भी है| ये एक डॉक्टरी समस्या है| जिससे अधिक वजन वाली औरतें ज्यादा प्रभावित होती है| इससे दिल के रोग, बच्चा ना होना और शुगर के रोग भी हो सकते है|

6. पीरियड्स लेट होने की एक वजह वजन का बढ़ना भी है मोटापा ज्यादा होने की वजह से शरीर में हार्मोन्स सही तरीके से काम नहीं कर पाते जिससे पीरियड्स लेट होना या ना आने जैसी परेशानियाँ होने लगती है|

  • अगर आप इससे बचना चाहती है तो आप एक हेल्थी लाइफस्टाइल अपनाये और अच्छा आहार, योगा, एक्सरसाइज के द्वारा अपना वजन कंट्रोल में रखे|
ज़रूर पढ़ें -   हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाएं

7. कुछ महिलाएं अपना वजन तेजी से कम करने के लिए डाइटिंग करती है और सब कुछ खाना पीना छोड़ देती है जिसकी वजन से उनके शरीर को जरूरी पोषण नहीं मिल पाता| इसे हम ईटिंग डिसऑर्डर भी कहते है|

  • जरूरी पोषक तत्व न मिलने की वजह से इसका असर मासिक धर्म चक्र पर पड़ता है| जिससे पीरियड्स मिस होने या लेट होने की परेशानी होने लगती है|

8. वजन का जरूरत से ज्यादा कम होना भी पीरियड्स प्रॉब्लम के लिए जिम्मेदार है| कुछ लड़कियों और महिलाओं का शरीर दुबला पतला होता है जिसकी वजह से उनके शरीर में प्रयाप्त मात्रा में एस्ट्रोजन नहीं बन पाता जिस वजह से अनियमित पीरियड्स के लक्षण दिखने लगते है|

  • आप अपना वजन बढ़ा कर पीरियड्स की परेशानी को दूर कर सकती है|

9. माहवारी लेट होने की वजह कुछ लड़कियां फिट बॉडी पाने के लिए जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करती है ऐसे लड़कियों में एम सी मिस या लेट होने की परेशानी ज्यादा रहती है|

  • कुछ महिलाओं के पीरियड्स पूरे साल बंद रहते है और इसका सबसे बड़ा कारण है की जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करना|

10. ज्यादातर कुछ महिला डांसर या खिलाड़ी अपनी परफॉरमेंस और स्टैमिना बढ़ाने के लिए बहुत ज्यादा प्रैक्टिस करती है तो इसका बुरा असर उनके एस्ट्रोजन हार्मोन्स पर पड़ता है जिससे माहवारी मिस होने की परेशानी होने लगती है|

  • अच्छा आहार लें और कुछ दिन आराम करके आप अपने पीरियड्स को नॉर्मल कर सकती है|

शादी के बाद पीरियड्स ना आने के कारण

Reason for late periods after marriage in hindi

शादी के बाद महिला की पारिवारिक ज़िम्मेदारी बढ़ जाती है साथ ही साथ मानसिक और शारीरिक बदलाव भी होते है जिससे महिला के शरीर में हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ने लगता है और irregular periods की परेशानी होने लगती है लेकिन इसमें घबराने की कोई बात है है शादी के बाद हार्मोन्स में बदलाव आना सामान्य है और ऐसे में जरूरी है की समय-समय पर डॉक्टर की सलाह लेती रहे|

  • शादी के बाद Mc मिस या लेट होने की पहली वजह है प्रेग्नेंसी होना| अगर आप ने हाल ही में शारीरिक संबंध बनाये है तो सबसे पहले प्रेग्नेंसी जांच किट से अपने गर्भवती होने की पुष्टि करें|
  • शादी के बाद कुछ महिलाएं गर्भनिरोधक दवा का सेवन करती रहती है गर्भनिरोधक दवाओं का ज्यादा सेवन का बुरा असर मासिक धर्म के चक्र पर पड़ता है अगर गर्भनिरोधक दवा सेवन करने से आपको पीरियड्स ना आने की परेशानी आ रही है तो आप अपने डॉक्टर से मिले और सलाह लें|
  • Mc लेट होने की वजह स्तनपान भी हो सकता है स्तनपान की वजह से कुछ महिलाओं में पीरियड्स ना होने या लेट होने शिकायत होती है क्योंकि इस समय माँ के शरीर में हार्मोन्स में बदलाव आता है स्तनपान बंद होने पर पीरियड फिर से नॉर्मल होने लगेंगे|
ज़रूर पढ़ें -   बुखार का इलाज के 10 घरेलू नुस्खे - Easy Tips for Fever Treatment in Hindi

मासिक धर्म में देरी के अन्य कारण इन हिंदी

  • सफर करने का असर खाना पीना, दैनिक कार्य और नींद पर पड़ता है जिसकी वजह से पीरियड्स लेट हो जाते है अगर आप इसे normal करना चाहते है तो अच्छी डाइट और अच्छी नींद लें|
  • मासिक तनाव का बुरा असर शरीर पर पड़ता है इससे हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ने लगता है और पीरियड्स ना आने या लेट होने की समस्या होती है इसके उपाय करने के लिए खुद को तनाव मुक्त रखे|
  • शराब और धूम्रपान का सेवन करने से पीरियड्स अनियमित होने लगते है इसलिए किसी भी तरह का नशा ना करें|
  • पीरियड्स देरी से आने की वजह पता चलने के बाद आप उसका उपचार घरेलू उपाय और दवा से भी कर सकते है| और इलाज करने के बाद भी पीरियड्स ना आये तो डॉक्टर से मिले और सलाह लें|

हेल्लों दोस्तों प्रेग्नेंसी के इलावा पीरियड्स लेट होने के कारण – Late Periods in Hindi का यह लेख आप को कैसा लगा हमें कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|

Leave a Comment