पीलिया का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय दवा और देसी नुस्खे

Piliya ka ilaj in hindi : इस रोग में पेशाब का रंग पीला हो जाता है| उसके बाद धीरे-धीरे आंख, नाखून तथा त्वचा का रंग भी पीला पड़ जाता है| इतना ही नहीं, अपितु रोग के बढ़ने पर रोगी प्रत्येक वस्तु को पीतवर्ण ही देखता है| इसके अतिरिक्त इस रोग में बदहजमी, खुजली, ज्वर, मितली, वमन, बेचैनी तथा चिड़छिड़ापन के भी लक्षण प्रकट होते है| मुंह का स्वाद कड़वा हो जाता है तथा मिठाई और चिकनाई से घ्राण हो जाती है|

पीलिया का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय दवा और देसी नुस्खे

पीलिया रोग, पीले ज्वर से भिन्न होता है| पीले ज्वर की भांति पीलिया संक्रामण भी नही है और न इसमें ज्वर ही बहुत तेज (106 डिग्री या 107 डिग्री) होता है| पीलिया रोग आरम्भ होने के कुछ दिन पहले रोगी के स्वभाव में कुछ कडुआपन आ जाता है| वह अच्छी तरह से सो नहीं पाता| उसे भोजन से अरुचि हो जाती है| पेट खराब रहने लगता है, यहां तक की आरम्भ के 24 घंटों में रोगी जो कुछ खाता है पीता है, यहां तक की फल का रस और पानी भी बाहर आजा है| कभी-कभी रोगी के दाहिने कंधे के नीचे के भाग में दर्द भी होता है|

रोग के आक्रमण के पहले रोगी को कुछ ठंड सी लगती है और जी मचलाता है पीलिया को कमल, कामला, कांवरा, कांवरू पांडू तथा अंग्रेजी में श्रंनदकपबक कहते है| पीलिया नया हो या पुराना हो आयुर्वेदिक दवा और देसी नुस्खे अपना कर आप इसका उपचार कर सकते है| इस बीमारी से राहत पाने के लिए इलाज के साथ ही साथ परहेज करना भी बहुत जरूरी है| पीलिया तीन तरह का होता है| हेपेटाइटिस ए, हेपेटाइटिस बी, हेपेटाइटिस सी (काला पीलिया)| इस लेख में हम जानेंगे home remedies for jaundise treatment in hindi.

पीलिया के लक्षण

पीलिया के लक्षण शुरू में नहीं दिखते है जब यह रोग बढ़ने लगता है तब रोगी के नाखून और आंखे पीली पड़ जाती है| और पेशाब भी पीले रंग का आने लगता है| खाना भी ठीक से नहीं पचता है इसके अलावा कुछ और लक्षण भी है जो हम आप को नीचे बाता रहे है जिससे आप पिलिए की पहचान कर सकते है|

  • आँखों में दर्द होना
  • जी मचलाना और उल्टी आना
  • थकान और कमजोरी होना
  • सिर में दर्द होना
  • बुखार आना
  • भूख कम लगना या बिल्कुल ना लगना
ज़रूर पढ़ें -   एलर्जी का इलाज के 5 आसान घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

पीलिया के कारण

यह जिगर की खराबी से उत्पत्र जोता है| जिगर की पित्त नली में जब पथरी (stone) अटक जाती है या किसी बीमारी के कारण पित्त की नली का रास्ता छोटा हो जाता है तो पित्त आंतों में ना पहुँचकर खून में ही सीधा मिलने लगता है| खून में इस पित्त के मिलने से ही शरीर में पीलापन छा जाया करता है|

वैसे यह रोग आमतौर पर पौष्टिक भोजन की कमी, पाचन क्रिया की गड़बड़ी, बहुत ज्यादा रक्तस्त्राव या वीर्य नाश करना, मलेरिया बुखार का जीर्ण रूप आदि के कारण पीलिया रोग हो जाया करता है इसके अतिरिक्त स्त्रियों में मानसिक धर्म का अधिक होना, प्रसव के समय अत्यधिक रक्त का निकल जाना, टाइफाइड, रक्त संचार सम्बन्धी रोग, संखिया, फास्फोरस जैसे घातक विषों का सेवन पीलिया के कारण है|

पीलिया का इलाज के घरेलू उपाय और नुस्खे

Jaundice Treatment Tips in Hindi

  1. त्रिफला चूर्ण महीन पिसा हुआ एक ग्राम (8 रत्ती), फिटकरी का फूला 1/4 ग्राम (2 रत्ती), उत्तम लौह भस्म 1/8 ग्राम (1 रत्ती) मिलाने पर एक खुराक बनती है| ऐसी 4 ख़ुराकें प्रतिदिन सुबह, दोपहर, शाम व रात को ताजा छाछ में घोलकर एक सप्ताह तक सेवन करने से पीलिया समाप्त हो जाता है|
  2. एक गिलास पानी में आधा नींबू का रस व चुटकीभर नमक मिलाकर दिन में 2 से 3 बार सेवन करने से भी जिगर के तमाम रोग ठीक होते हैं|
  3. छोटे-छोटे प्याज के छिलके उतारकर उन्हें बिना काटे सिरके में डालकर आचार बना लें| सिरके में बने प्याज का आचार पीलिया के मरीज को हर रोज खाने को दें| इसका असर रामबाण की तरह होता है| मरीज के लिए सफ़ेद प्याज का रस भी हितकारी है| इसमें मिश्री और पिसी हुई हल्दी डालकर पिएं| कुछ ही दिन में पीलिया के रोग पर निरंत्रण हो जाएगा| जब तक पीलिया जड़ से उखड़ ना जाए, तब तक इस विधि का सेवन परम उपयोगी है|
  4. अगर पीलिया कुछ दिन पुराना है तो सोंठ का चूर्ण पहले घी में भून लें, फिर गुड के साथ लें| इससे न सिर्फ रक्त से पित्त का निकास होगा, बल्कि जठराग्नि भी उद्दीप्त होगी व भूख-प्यास बढ़ेगी| शरीर में सूजन है तो वह भी सामान्य हो जाएगी|
  5. एक प्याज व एक नींबू का रस मिलाकर काला नमक, कालीमिर्च व थोड़ी सी अदरक के बारीक-टुकड़े उसमें डालकर डेढ़ या दो घंटे तथा यथावत पड़ा रहने दें| 2 घंटे बाद रोगी इन अदरक के टुकड़ों को चबाकर खाए तो पीलिया रोग में लाभ होता है|
  6. मूली के पत्तों से लगभग 200 मि. ली. रस निकालें| इसमें मिश्री मिलाकर हर रोज पिएं| 7 से 8 दिन में रक्त की लालिमा लौटेगी और शरीर का पीला रंग सामान्य हो जाएगा|
  7. पीलिया रोगी को छायादार जगह पर विश्राम करना चाहिए| धूप से बचना चाहिए| सोंठ का चूर्ण का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए|
  8. एक गिलास टमाटर का रस, गाजर का रस पीने से भी पीलिया समाप्त होता है|
  9. पीलिया के रोगी दिनभर में आधा किलो पपीता खाए तो लाभ होगा|
  10. नीम का रस, घी तथा शहद (दोनों कम-बढ़ती मात्रा) के साथ चाटने से काफी लाभ होता है|
ज़रूर पढ़ें -   पिचके पतले गाल मोटा कैसे करे 10 आसान उपाय इन हिंदी

काला पीलिया का देसी इलाज

  1. रात को सोने से पहले थोड़ी सी ईमली पानी में भिगो कर रखे दे और अगली सुबह उसी पानी में ईमली को पीस लें और पानी छान लें| इस पानी में थोड़ी कालीमिर्च और काला नमक मिला कर सेवन करे| इस घरेलू उपाय से 1 या 2 सप्ताह में पीलिया ठीक हो जायेगा|
  2. काले पीलिया में सुधार लाने और लिवर की कमजोरी दूर करने के लिए रोगी को नीम के पत्तों का एक चम्मच रस दिन में 2 से 3 बार पिलाये|
  3. 250 ग्राम दही में फूली हुई फिटकरी 10 ग्राम मिलाकर सेवन करें दही और छाछ का सेवन अधिक करे|

पीलिया की आयुर्वेदिक दवा और उपचार

एक कोरा पान लें| धो व साफ करके सिर्फ गीला कत्था लगाकर इस पर चुने की दाल बराबर देसी कपूर का टुकड़ा रखें और पान लपेटकर बीड़ा बना लें| इस बीड़े को मुंह में रख कर 20 से 25 मिनट तक चबाते हुए रस को निगलते रहे| इसकों चबाने के आधा घंटे पहले और आधा घंटे बाद तक कुछ भी खाएं-पिएं नहीं| खान-पान में परहेज रखें| तीन दिन तक यह प्रयोग करें| पीलिया रोग खत्म हो जाएगा|

शुरू में दो दिन तक एक चम्मच शहद की खुराक मरीज को दो बार दें| फिर चार दिन तक एक चम्मच शहद में जरा-सा आंवले का चूर्ण मिलाकर तीन बार दें, अगले चार दिन तक आधे चम्मच शहद में लौह-चूर्ण मिलाकर तीन बार दें| आशातीत लाभ होगा|

पीलिया में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए

  • गरम चीजें खाने से बचे|
  • ताजे फलों का जूस सेवन करें|
  • ज्यादा घूमें फिरे नहीं घर पर आराम करें|
  • उड़द की दाल, मेदा, मिर्च मसालेदार, मिठाइयां और तले भुने खाने से परहेज करें|
  • हल्का भोजन सेवन करे जिससे आसानी से पच सके और लिवर को भी ताकत मिले जैसे की दलिया, खिचड़ी, गुड, लस्सी, चीकू, मूली, ग्लूकोस, पपीता और उबले हुए आलू सेवन करें|
ज़रूर पढ़ें -   नींबू से रोगो का उपचार

हेल्लों दोस्तों पीलिया का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय दवा और देसी नुस्खे का यह लेख आप को कैसा लगा हमे कमेंट करें और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|