नॉर्मल डिलिवरी के लिए 5 आसान उपाय प्रेग्नेंसी टिप्स

Normal Delivery Ke Upay in Hindi : मां बनना किसी भी महिला के लिए बेहतरीन व खुशी का पल होता है| लेकिन गर्भधारण के बाद हर महिला के मन में यह सवाल जरूर उठता है कि उसकी नॉर्मल डिलीवरी होगी या सिजेरियन डिलिवरी होगी| लेकिन वर्तमान में बदलती लाइफ स्टाइल व भागदौड़ भरी ज़िंदगी की वजह से सामान्य तरीके से बच्चे को जन्म देना आसान नहीं है| आज के समय में नॉर्मल डिलिवरी होना एक लक के समान माना जाने लगा है|

आमतौर पर डॉक्टर नॉर्मल डिलिवरी करने की सलाह देते है| प्रेग्नेंसी के दौरान हर गर्भवती चाहती है| उसकी डिलिवरी नॉर्मल तरीके से हो और कई बार परिस्थितियां कुछ ऐसी हो जाती है जिससे नॉर्मल डिलिवरी नहीं हो पाती और ऑपरेशन करवाना पड़ता है| आजकल ज़्यादातर डिलिवरी बड़े ऑपरेशन से हो रही है| लेकिन यह तरीका बहुत ही खर्चीला होता है और साथ मे नुकसानदायक होता है| जिससे हर महिला नॉर्मल डिलिवरी करने के उपाय के बारे में जानना चाहती है इस लेख में हम जानेंगे नॉर्मल डिलिवरी के लिए क्या करें, Pregnancy ke 9 month mein normal delivery tips for pregnant lady in hindi.

नॉर्मल डिलिवरी कैसे होती है

प्रेग्नेंट महिला की डिलिवरी में दो तरीको का इस्तेमाल किया जाता है वो है- नॉर्मल डिलिवरी और सिजेरियन डिलिवरी है यह प्रसव या डिलिवरी की एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें शिशु का जन्म महिला के योनि मार्ग से प्राकृतिक तरीके से होती है| परन्तु जहा नॉर्मल डिलिवरी होने पर माँ जल्दी स्वस्थ हो जाती है| वही ऑपरेशन से डिलिवरी होने के बाद माँ को रिकवर होने में अधिक समय लगता है| गर्भवती महिला अगर ज्यादा आराम करती है तो उसकी नॉर्मल डिलिवरी होने की संभावना कम हो जाती है|

नॉर्मल डिलिवरी के लक्षण : Symptoms of Normal Delivery

ज़रूर पढ़ें -   लड़का पैदा करने के घरेलू उपाय - ladka paida karne ke gharelu upay in Hindi

गर्भवस्था के समय महिला के मन में यही बात चलती रहती है कि उसका बच्चा स्वस्थ है भी या नहीं उसकी डिलिवरी नॉर्मल हो सकेगी या ऑपरेशन से होगी| एसे कोई भी पर्याप्त लक्षण नहीं है| जिससे आप को बताया जा सके के आप की डिलिवरी नॉर्मल होगी या नहीं, अगर आप शुरू से ही किसी डॉक्टर के संपर्क में है तो वो बच्चे और महिला को देख कर बता सकते है की डिलिवरी किस तरीके से होगी|

नॉर्मल डिलिवरी के उपाय इन हिंदी

Pregnancy Tips for Normal Delivery in Hindi

  1. अगर आप चाहते है कि नॉर्मल डिलिवरी हो तो उसके के लिए नियमित रूप से डॉक्टर से सलाह लेते रहे| और बीच-बीच में चेकप करती रहें|अगर आपके मन में डिलिवरी से संबंधित कोई भी बात है तो उन्हें बताएं| आप ऐसे डॉक्टर से सलाह लें, जो नॉर्मल डिलिवरी को ज्यादा प्राथमिकता देते है|
  2. ज्यादातर डॉक्टर सामान्य डिलिवरी के लिए गर्भवस्था में महिलाओं को आराम करने के लिए कहते है| ताकि आप भरपूर नींद लें| आराम करने से और अच्छी नींद लेने से बच्चे का अच्छा से विकास होता है| दिन में 2 से 3 घंटे आराम करे और रात के समय 7 से 8 घंटे जरूर सोएं|
  3. गर्भवस्था महिला को शारीरिक रूप से फिट और चुस्त रहना चाहिए| चलने फिरने से महिला खुद को एक्टिव रख सकेगी चलना फिरना यह एक अच्छा उपाय है| इससे पेट में बच्चा हलचल करता है और उसे आराम मिलता है|
  4. प्रेग्नेंसी में आप क्या खा रहीं हैं और क्या नहीं खा रहीं है| प्रेग्नेंसी के दौरान पौष्टिक आहार बहुत जरूरी होता है| यह भी आपकी नॉर्मल डिलिवरी योगदान देते है| ऐसी अवस्था में आप सही समय पर सही आहार खाएं| यह आप के साथ ही आपके पेट में पल रहे बच्चे को भी फायदा पहुंचाता है| चर्बी युक्त भोजन खाने से बचें| इससे मोटापा बढ़ता है और सामान्य प्रसव के दौरान दिक्कत हो सकती है| प्रेग्नेंसी में आयरन और कैल्शियम की कमी नहीं होनी देना चाहिए| आप अपने डॉक्टर की सलाह से डाइट ले सकती है|
  5. प्रेग्नेंसी के समय महिला के शरीर में खून की कमी नहीं होना चाहिए| इसलिए आप अपने डॉक्टर से मिले और खून टेस्ट करवाये और खाने पीने का भी ध्यान रखना चाहिए|
ज़रूर पढ़ें -   प्रेग्नेंसी के बाद पेट और वजन कम करने के आसान उपाय

आयुर्वेदिक टिप्स फॉर नॉर्मल डिलिवरी : Ayurvedic tips for normal delivery in hindi

  1. प्रेग्नेंसी के 9th महीने के शुरू होने पर सवा के बीज सेंक ले और एक गिलास पानी में गुड़ मिलाएं| अब इस पानी का सेवन करे इस पानी के सेवन से नॉर्मल डिलिवरी होने में काफी मदद मिलती है|
  2. प्रेग्नेंसी के समय मेथी का सेवन बहुत दी लाभदायक और नॉर्मल डिलिवरी होने के चांस बढ़ जाते है|
  3. अश्वगंधा, तुलसी, अर्जुन रसायन जैसी मेडिसिन लेने से शरीर में ताकत आती है और बच्चे की रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ेगी और नॉर्मल प्रेग्नेंसी डिलिवरी में भी मदद मिलेगी| आयुर्वेदिक दवा का सेवन करने से पहले आप अपने डॉक्टर से मिले और दवा का समय और दवा कितनी मात्रा में लें|

प्रेग्नेंसी एक्सरसाइज फॉर नॉर्मल डिलिवरी इन हिन्दी

  1. सेहतमंद नॉर्मल डिलिवरी के लिए रोजाना छोटे-मोटे एक्सरसाइज और योगा करें| अगर आप गलत तरीके से कोई व्यायाम कर रही है| तो यह आपके बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है|
  2. व्यायाम से पेट के निचले हिस्से कि मांसपेशियां मजबूत होती है| जांघ कि मांसपेशियां को भी ताकत मिलती है|
  3. कोई भी एक्सरसाइज और शारीरिक व्यायाम करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें और किसी एक्सपर्ट के सामने एक्सरसाइज करे|
  4. प्रेग्नेंट महिला को 9th (नौवें) महीने में कुछ देर टहलना चाहिए| और ज्यादा शारीरिक श्रम नहीं करना चाहिए|

नॉर्मल डिलिवरी के लिए बाबा रामदेव योगा आसान 

सेहतमंद तरीके से बच्चे को जन्म देने के लिए बिना ऑपरेशन के आप घर पर आप कुछ योगा भी कर सकते है| ये आसान आप किसी की देख रेख में करे ताकि आप योगा सही तरीके से कर सके| तो चलिये जानते है प्रेग्नेंट योगा टिप्स फॉर नॉर्मल डिलिवरी इन हिन्दी|

  1. सुख भद्रासन
  2. कोण आसन
  3. वक्रासन
  4. उत्कतसना
  5. सहज पश्चिमोत्तानासन
ज़रूर पढ़ें -   गर्दन में दर्द का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

एक्सरसाइज और योगा के साथ आप घर का कम काज और मॉर्निंग वॉक करे| शारीरिक व्यायाम करने से बॉडी एक्टिव रहती है और मांसपेशियां भी मजबूत रहती है| जिससे प्रेग्नेंट महिला को नॉर्मल डिलिवरी के समय ज्यादा परेशानी नहीं उठानी पड़ती है|

नॉर्मल डिलिवरी टिप्स इन हिंदी : Normal delivery tips in hindi

  • प्रेग्नेंट महिला शराब और धूम्रपान से दूर रहे यह बच्चे और प्रेग्नेंट महिला के लिए हानिकारक होता है|
  • गर्भवस्था महिला को अपनी बॉडी की मालिश करना चाहिए और 7 से 8 घंटे की नींद लेना बहुत जरूरी है|
  • प्रेग्नेंट महिला को तला भुना, मसालेदार और फास्ट फूड खाने से पहरेज करे|
  • प्रेग्नेंट महिला और बच्चे के लिए कोल्ड ड्रिंक्स और काफी चाय से परहेज करे यह दोनों के लिए नुकसानदायक है|
  • प्रेग्नेंट महिला किसी भी तरीके की टेंशन न ले और खुद को तनाव से दूर रखे| पेट में पल रहे बच्चे और गर्भवती महिला यह दोनों के लिए ठीक नहीं है|

हेल्लों दोस्तों नॉर्मल डिलिवरी के लिए 5 आसान उपाय प्रेग्नेंसी टिप्स का यह लेख आप को कैसा लगा हमे कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करे|