थायराइड के लक्षण और कारण महिलाओं और पुरुषों में क्या होते है

Thyroid ke lakshan karan aur upay in hindi : एक अनुमान के अनुसार दुनिया भर में 20 करोड़ लोग थायराइड डिसऑर्डर से पीड़ित है| आप इस आंकड़ें से ही समझ गए होंगे कि थायराइड कितनी तेजी से लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है| एक सर्वेक्षण के अनुसार महिलाओं में डिसऑर्डर की संभावना पुरुषों की तुलना में ज्यादा होती है| थायराइड होने पर शुरू के लक्षण क्या होते है

अगर आप को इस बात की जानकारी हो तो समय के रहते इस रोग को पहचान कर उपचार करके बढ़ने से रोक सकते है| और इसका सुलझाव भी किया जा सकता है| इसके अलावा अगर इस बीमारी की वजह पता हो इससे बचने के लिए उपाय भी किए जा सकते है| थायराइड 2 तरह के होते है हाइपोथायराइड और हाइपर थायराइड| आज के इस लेख में हम जानेंगे की थायराइड कैसे होता है| थायराइड को कैसे पहचाने और महिलाओं पुरुषों व बच्चे में थायराइड के प्रमुख लक्षण क्या है| home, remedies solutions and symptoms (lakshan) of thyroid problems in hindi in men and women. 

थायराइड टेस्ट कैसे करे

  • अगर आप को थायराइड के सिम्पटम्स दिख रहे है और इस रोग को लेकर अगर आपके मन में कोई संदेह न हो तो सबसे पहले थायराइड टेस्ट करवा कर इसकी संस्थापना करे|
  • बॉडी में थायराइड के स्तर को चेक करने के लिए T3, T4 और TSH से टेस्ट करे|
  • टेस्ट करवाने से पहले एक बात का जरूर ध्यान रखे की टेस्ट कराने से कम से कम 12 घंटे पहले तक कुछ खाए पिए नहीं|

थायराइड के लक्षण महिलाओं और पुरुषों में

Thyroid Ke Lakshan in Hindi

  1. थायराइड रोग और उनके लक्षण में बॉडी की इम्युनिटी कमजोर हो जाती है| जिसकी वजह से शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता कम होने लगती है| और साथ ही साथ शरीर का मेटाबोलिज़्म भी हल्का हो जाता है| और जी भी कुछ हम खाते पीते है सही तरीके से ऊर्जा में नहीं बदलता और शरीर को जरूरी एनर्जी नहीं मिलती|
  2. महिलाओं को थायराइड की समस्या हो जाने पर उनमें आँखों के रोग हो जाते है| जैसे की आँखों में खुजली होना और सूजन आना|
  3. थायराइड के शुरुआती लक्षण में बालों का झड़ना और गंजापन भी है और साथ ही साथ आइब्रों के बाल भी झड़ने लगते है|
  4. पुरुषों में थायराइड के प्रमुख लक्षण में ऊर्जा स्तर कम होना, वजन व डाइट में बदलाव आना, स्तनों में असामान्य तरीके से विकास होना, मांसपेशियों में दर्द व कमजोरी महसूस होना और चिड़चिड़ापन|
  5. थायराइड के लक्षण महिलाओं के पीरियड्स से भी पता कर सकते है| जैसे की पीरियड्स कम या ज्यादा होना अनियमित महवारी की समस्या होना या फिर दो पीरियड्स के बीच अंतराल कम या ज्यादा होना|
  6. कमजोरी महसूस होना, जल्दी थकान होना और अधिक नींद आना|
  7. इस बीमारी के कुछ अन्य लक्षण है जैसे की किसी भी काम में मन न लगना, डिप्रेशन में रहना, याददाश्त कमजोर होना और दिमाग की सोचने व समझने की शक्ति कम होना|
  8. थायराइड की पहचान कैसे करे, आवाज में भारीपन आना, गले में कुछ सुई जैसा चुभना और गले में सूजन होना|
  9. प्रारंभिक लक्षण में जो सबसे पहले नजर आते है वो है बाल, आंखे और नाखून का अस्वस्थ होना| थायराइड का रोग होने से नाखून पतले और रूखे हो जाते है| नाखून में दरारें पड़ने लगती है और जल्दी टूटने लगते है|
  10. मोटापा कम और बढ़ना भी थायराइड के संकेत होते है हाइपरथाइराइड में वजन और कॉलेस्ट्रॉल कम होने लगता है हाइपोथाइराइड में तेजी से वजन और मोटापा बढ़ने लगता है और साथ ही साथ कॉलेस्ट्रॉल का स्तर भी बढ़ने लगता है|
  11. कुछ महिलाओं के शरीर में दूसरे तरल पदार्थों और पानी में रुकावट होने लगती है जिसकी वजन से हाथ व पैरों में सूजन होने लगती है|
  12. हाइपर थायराइड की पहचान – हाथ पैरों में कपकपी होना, दिल की धड़कन तेज होना, वजन कम होना, पसीना ज्यादा आना|
  13. हाइपोथायराइड के लक्षण – आवाज में भारीपन होना, चेहरे और आँखों में सूजन होना, भूख कम लगना या न लगना, त्वचा में रूखापन आना, ठंड ज्यादा लगना, मोटापा और वजन का बढ़ना, कब्ज की समस्या होना, सिर गर्दन और जोड़ों में दर्द का होना|
ज़रूर पढ़ें -   जल्दी वजन बढ़ाने और मोटा होने के 5 घरेलू उपाय और नुस्खे इन हिन्दी

थायराइड रोग के कारण – Thyroid Hone ke Karan in Hindi

  • किसी भी दवा के साइड इफेक्ट होने से थायराइड का रोग हो सकता है|
  • जब महिला प्रेग्नेंट होती है तब उसे थायराइड होने का खतरा ज्यादा रहता है| क्यूंकि गर्भावस्था के समय प्रेग्नेंट महिला के शरीर में कई तरह के हर्मोन्स में बदलाव होते है|
  • सोया का ज्यादा इस्तेमाल करने से भी थायराइड की बीमारी हो सकती है| कुछ लोग सोया को प्रोटीन पाउडर के रूप में इस्तेमाल करते है|
  • ज्यादा टेंशन लेने से भी इसका बुरा असर थायराइड ग्रंथि पर पड़ता है|
  • थायराइड समस्या खाने में आयोडिन की मात्रा ज्यादा या कम होने की वजह से भी हो जाती है|
  • Thyroid होने की एक वजह आनुवांशिक भी है| थायराइड की समस्या परिवार में किसी को भी हो तो परिवार के दूसरे सदस्यों को भी यह बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है|

थायराइड रोग के घरेलू टिप्स इन हिन्दी

  • Thyroid कंट्रोल करने के लिए आयोडीन का इस्तेमाल करे| जितना हो सके नेचुरल तरीके से मिलने वाले आयोडीन का ही सेवन करे जैसे लहसुन, टमाटर और प्याज|
  • थायराइड होने पर क्या खाना चाहिए और क्या नही खाएं| तम्बाकू, शराब, धूम्रपान और नशीली चीजों से परहेज करें| जाने थायराइड में क्या नहीं खाएं |
  • सफ़ेद नमक की बजाय काला या सेंधा नमक का इस्तेमाल करे|
  • हफ्ते में 1 दिन नारियल पानी का सेवन करे|
  • थायराइड से पीड़ित रोगी को अपनी डाइट में विटामिन ऐ शामिल करना चाहिए| हरी सब्जियों और गाजर में विटामिन ऐ अधिक मात्रा में पाया जाता है| इससे थायराइड को कंट्रोल करने में मदद मिलती है|
  • रोजाना 4 से 5 लीटर पानी पिए, इससे शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते है|
  • अगर कोई शादीशुदा महिला थायराइड के रोग से पीड़ित है और वे प्रेग्नेंट होने के बारे में सोच है तो उसे अपनी प्रेग्नेंसी प्लान करने से पहले आपने डॉक्टर से मिले और सलाह लें| थायरोइड पूरी तरह से कंट्रोल होने के बाद ही प्रेग्नेंट होने का सोचे|
ज़रूर पढ़ें -   डेंगू का इलाज के रामबाण घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

हेल्लों दोस्तों थायराइड के लक्षण और कारण महिलाओं और पुरुषों में क्या होते है का यह लेख आप को कैसा लगा हमें कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|

Leave a Comment