तेजी से मोटापा कम करने के 5 आसान उपाय इन हिन्दी – Weight Loss Tips in Hindi

Motapa Kam Karne Ke Asan Upay in Hindi : जब मोटापा असाधारण रूप से बढ़ जाता है तो उसे मोटापा रोग कहते है इस रोग में शरीर में अनावश्यक चर्बी जमा हो जाती है| यह थायराइड गलण्ड व पिट्यूटरी गलण्ड के असन्तुलित होने पर भी हो जाता है| जिससे शरीर के अवयवों की क्रिया में व्याघात पड़ता है| क्यूंकि चर्बी उनके स्थान को घेर लेती है और भोजन से पौष्टिक तत्व लेने और श्रम एव संचरण करने की शक्ति को कम कर देती है| चर्बी के कारण शरीर के भीतरी तन्तुओं की मलिनता रक्त में मिलकर बाहर नहीं निकल पाती जिससे मोटे आदमी का जीवन-काल कम हो जाता है| मधुमेह, ह्रदय-रोग, कब्ज, रक्त-चाप में वृद्धि, मिरगी, चर्म-रोग, आदि मोटे आदमियों की खास बीमारियां घेर लेती है|

एक तरह से मोटापा रोग को सारे शरीर का कब्ज कहना चाहिये| मोटी स्त्रियों की बच्चेदानी चर्बी से भर जाती है और ऐसी स्त्रियां प्राय: बन्ध्या होती हैं| मोटे आदमियों को अपना बेझिल शरीर ढोना स्वयं अखरता है| उन्हें अपना जीवन बोझ और निरानन्दमय प्रतीत होता हुए भी मुर्दे के समान जीवन व्यतीत करते है| वे अपने में स्फूर्ति, उमंग और चा चल्य का ह्रास अनुभव करते है| मस्तिष्क निष्क्रिय हो जाता है, स्मरण शक्ति नष्ट हो जाती है| ऐसे मनुष्य हिम्मतपस्त और परिश्रम से जी चुराने वाले होते है| ऐसे मनुष्यों को जब कोई रोग लग जाता है तब उसे मुश्किल से छुटकारा मिलता है|

मोटापे का कारण : Motape ka Karan

मोटापा रोग के अनेक कारणों में, गलत रहन-सहन, आलस्यमय जीवन, परिश्रम न करना, शरीर में क्षार की कमी का होना, अधिक सोना, अधिक खाना, तथा पाचन-क्रिया में बिगाड़, प्रधान कारण है|

ज़रूर पढ़ें -   मिनटों में सुंदर बेदाग व निखार चेहरा पाने के 5 आसान घरेलू नुस्खे

मोटापा कम करने का इलाज – Treatment of obesity reduction

जो लोग क्षारयुक्त भोजन करते है और कसरत करने के आदी है, वे मोटापा रोग से बचे रहते है| मोटापा धीरे-धीरे घटाना चाहिये| जल्दी करने से किसी कठिन बीमारी के हो जाने की संभावना है| चावल, दूध, घी, दही, बासी रोटी, चना, दाल, तामसिक भोजन मसाले, तेल, चाय, भीगे छुहारे खाकर दूध या दही पीना, तथा आम खाकर दूध पीना, आदि मोटा करने वाले योग है| इन्हें त्याग देना चाहिये| शहद पानी में घोलकर उसका शर्बत पीने से मोटापा दूर होता है| फलों का जूस पीना भी मोटापा रोग में लाभ करता है| मोटे आदमी यदि नियम पूर्वक रोटी और शहद खायें तो कुछ दिनों में आश्चर्यजनक रूप से पतले हो जाते है|

अमेरिका के Journal of the America Medical Association में प्रकाशित हुए डा0ए0 हैरो के मतानुसार मोटाई को कम करने के लिये केले और मलाई रहित दूध का आहार बहुत ही अच्छा होता है| दस से पन्द्रह दिनों तक प्रतिदिन केवल 6 केले और चार गिलास मलाई रहित दूध दिया जाता है| हो सके तो उस दूध का मट्ठा बनाकर दें| इसके बाद 15 दिनों तक एक या दो केला घटाकर उसके बदले एक या दो रसदार फल दें| एक समय कच्चे हरे शाक भी दें| इस समय एक चोकर मिली रोटी ले सकते है और शहद भी| फिर 15 दिनों तक प्रथम क्रम पर रहें और इन दोनों क्रमों को तब तक चलावें जब तक मोटापा काफी कम न हो जाये| समान्यत: प्रति सप्ताह आधा से एक किलो अथवा महीने में 2 से 5 किलो तक वजन घटना काफी है| त्रिफला के काढ़े में शहद मिलाकर निराहार पीने से मोटापा व्रद्धि दूर हो जाती है|

ज़रूर पढ़ें -   मोटा होने और वजन बढ़ाने के 5 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे

मोटे आदमियों को गुदगुदे गद्दे पर न सोना चाहिये अपितु तख्त पर बिस्तरा लगाकर सोना चाहिये| मोटे आदमी यदि जलपान (नाश्ता) करने की आदत त्याग दें तो उनके लिए यह बड़ा लाभकारी सिद्ध होगा| ऐसे लोगों को बिना खूब भूख लगे कुछ न खाना चाहिये और थोड़ा भूख बाकी रहते ही खाना बन्द कर देना चाहिये| पानी दिन में कई बार और खूब पीना चाहिये| यदि पानी में नींबू का रस और कभी-कभी शहद भी मिलाकर पिया जाये तो अति उत्तम 10 से 14 दिनों तक फलाहार करने में मोटापा रोग बहुत जल्द दूर हो जाता है|

मोटापा दूर करने के लिए नीचे के व्यायाम उपयोगी सिद्ध होते है –

पहला व्यायाम – First exercise

सिधे खड़े हो जाओ| दोनों हाथ कूल्हों पर रखो सिर और छाती को उपर उठाओ| पीठ को सीधा रखो सिर को आगे की ओर झुकाओं कि ठोड़ी सिने को छू ले, अब गर्दन को धीरे-धीरे ऊपर की ओर उठाओं और पीछे की ओर झुकाओ कि गर्दन के सामने का भाग तन जाये|

दूसरा व्यायाम – Second exercise

दोनों पैरों को अलग-अलग कर खड़े हो जाओ आगे की ओर झुकों और शरीर के ऊपरी भाग को बायीं ओर घुमाओ | इतना कर के शरीर को सीधा करलो और अब आगे की ओर झुको तथा पूरे शरीर को दाहिनी और घुमाओ| यह क्रिया 5 से 10 बार तक की जानी चाहिये| परन्तु ध्यान रहे कि थकावट आ जाने पर क्रिया बन्द कर दी जाये|

तीसरा व्यायाम – Third exercise

सीधे खड़े हो जाओ| सिर ऊंचा रहे| दोनों पैरों को अलग-अलग रखो| दायें हाथ को पीठ पर रखो और बायेँ हाथ को सिर के ऊपर ले जाओ| अब इस तरह झुको कि ऊपर उठा बायां हाथ दायी ओर के पांव की अंगुलियों को छू ले| अब पुन: अपनी पहली दशा में वापस जाओ और बायां हाथ पीठ पर रख दायें हाथ को सिर के ऊपर ले जाओ|

ज़रूर पढ़ें -   पीरियड के कितने दिन पहले और बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट करे इन हिन्दी

चौथा व्यायाम – Fourth exercise

दोनों पैरों को एक हाथ रख कर पंजों पर खड़े हो जाओ| घुटनों को तना हुआ रखो| हाथों को आगे बढ़ाओ और नीचे की ओर इतना झुको जितना झुक सको|

हेल्लो दोस्तों तेजी से मोटापा कम करने के 5 आसान उपाय इन हिन्दी – Weight Loss Tips in Hindi का यह लेख आप को कैसा लगा हमे कमेंट करे और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें|

 

Leave a Comment